Manipur Violence: मणिपुर में फिर बिगड़े हालात, महिलाओं को निर्वस्त्र कर सड़कों पर दौड़ाया, वीडियो वायरल होने के बाद बवाल

मणिपुर में हालात एक बार फिर से बेकाबू होने लगे हैं. यहां एक समुदाय की महिलाओं को निर्वस्त्र कर सड़कों पर घुमाने का वीडियो सामने आया है.

बताया जा रहा है कि ये वीडियो 4 मई का है. वहीं, कुकी समुदाय गुरुवार को चुरचांदपुर में प्रस्तावित विरोध मार्च में इस मुद्दे को भी उठाने की योजना बना रहा है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

मणिपुर में हालात काबू होने की बजाय बिगड़ते जा रहे हैं. पूर्वोत्तर राज्य से हैरान करने वाला मामला सामने आया है. दरअसल, 4 मई का एक वीडियोआज सामने आया है.

इसमें एक समुदाय की दो महिलाओं को दूसरे पक्ष के कुछ लोग निर्वस्त्र कर सड़कों पर घुमा रहे हैं. इस घटना के सामने आने के बाद इलाके में तनाव फैल गया है. अधिकारियों ने बताया कि यह वीडियो इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फोरम (ITLF) के गुरुवार को होने वाले प्रदर्शन से ठीक एक दिन पहले प्रसारित किया जा रहा था. बताया जा रहा है कि ये वीडियो इस वजह से वायरल किया जा रहा है, ताकि उस समुदाय की दुर्दशा को उजागर किया जा सके.

Rajasthan Government College PG Admission 2023

MA MSc MCom आवेदन शुरू


ITLF के एक प्रवक्ता ने बताया कि कांगपोकपी जिले में 4 मई का है. इसमें महिलाओं को नग्न अवस्था में दर्शाया गया है. वीडियो में पुरुष पीड़ित महिलाओं से लगातार छेड़छाड़ करते दिखाई दे रहे हैं. वहीं पीड़ित महिलाएं बंधक बनी हुई हैं और लगातार मदद की गुहार लगा रही हैं. उन्होंने बताया कि अपराधियों ने इस वीडियो को बनाने के बाद वायरल भी कर दिया है. इससे इन निर्दोष महिलाओं द्वारा झेली गई भयावह यातना कई गुना बढ़ गई है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, ‘मणिपुर से दो महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न का भयानक वीडियो निंदनीय और अमानवीय है। सीएम एन बीरेन सिंह से जी बात की है जिन्होंने मुझे बताया कि मामले की जांच जारी है और आश्वासन दिया कि अपराधियों को कटघरे में लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।’

गैंगरेप के बाद महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया, 5 जिलों में फिर कर्फ्यू दोनों महिलाएं कुकी समुदाय की, आज प्रदर्शन करेंगे

हिंसाग्रस्त मणिपुर में बुधवार को फिर से कर्फ्यू लगा दिया गया। घाटी के 5 जिलों इंफाल ईस्ट, वेस्ट, थोबाल, विष्णुपुर और काकचीन में पूर्ण कर्फ्यू लगाया गया। पहले यहां सुबह 5 बजे से शाम 6 बजे तक ढील दी जा रही थी।

इस बार हिंसा फिर से भड़कने के पीछे एक वायरल वीडियो है। यह 4 मई का बताया जा रहा है, जिसमें दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया जा रहा है। दोनों महिलाएं कुकी समुदाय की बताई जा रही हैं। इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फोरम (आईटीएलएफ) का कहना है कि इनमें से एक महिला से गैंगरेप भी किया गया। फोरम ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य व केंद्र सरकार से अपील की है। आईटीएलएफ का कहना है कि यह वीडियो कांगपोकपी जिले का है।

इधर, कुकी समुदाय ने इस घटना के विरोध में गुरुवार को चूड़ाचांदपुर में गुरुवार को प्रदर्शन की चेतावनी दी है। वहीं, स्थानीय प्रशासन और पुलिस इस मामले में अब तक खामोश हैं।