Headlines

36 घंटे तक रहा गुढ़ागौड़जी में तनाव JHUNJHUNU NEWS

36 घंटे तक रहा गुढ़ागौड़जी में तनाव, हमले में युवक की मौत के बाद छावनी बने कस्बे में शव रखकर दिया जा रहा था धरना, शाम को प्रशासन व पीड़ित परिजनों के बीच हुआ समझौता
गुढागौड़ज़ी मे जानलेवा हमले में घायल दुडिया निवासी महावीर सिंह की मौत के बाद धरना दे रहे लोगों व प्रशासन के बीच सोमवार सहमति हो गई। पुलिस ने एक नाबालिग समेत पांच आरोपियों को पकड़ लिया है। इससे पहले दो रोज़ से क़स्बे के सीएचसी की मोर्चरी में शव रखा हुआ था। मांगों के लिए मृतक के परिजन पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी के नेतृत्व में अस्पताल में धरने बैठे थे। पुलिस प्रशासन व परिजनों के बीच हुई वार्ता के बाद शव का 36 घंटे बाद पोस्टमार्टम हुआ।
रविवार को पुलिस प्रशासन के बीच वार्ता का दौर शुरू हुआ था मगर वार्ता बेनतीजा रही। इससे पहले धरना स्थल पर काफ़ी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। धरने को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने कहा की हमें न्याय चाहिए। उदयपुरवाटी क्षेत्र में आए दिन इस प्रकार की घटनाएं होना आम बात हो गई है। पूर्व ज़िला प्रमुख मदनसिंह गिल रवींद्र भड़ाना रघुनाथपुरा सरपंच संजय नेहरा ने घटना की निंदा करते हुए कहा की सभी जनप्रतिनिधियों को जनता की अपेक्षा पर खरा उतरने के लिए सामाजिक मंचों पर आकर पीड़ित को न्याय दिलाने लिए आगे आना होगा। आरएलपी के डॉक्टर विकास गिल समेत अनेक नेताओं ने संबोधित किया धरने में

वार्ता में मांगों पर हुई सहमति
अस्पताल में अपनी माँगों के लिए धरने पर बैठे मृतक के परिजनों के साथ पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी, पूर्व सरपंच विजयपाल भाटीवाड़, वार्ता में शामिल हुए। प्रशासन की और से एडीएम जेपी गौड़, एसडीएम राजेंद्र सिंह, सीआई गोपालसिंह ढाका, डीएसपी सतपाल सिंह आदि थे। हत्या के सभी आरोपियों की गिरफ़्तारी की
मांग पर पुलिस ने कहा की पांच आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है। वार्ता के बाद हत्या के मामले की जांचच सीओ आनंद राव को दी गई, एसआई बुद्धिप्रसाद को तत्काल प्रभाव से गुढा थाने से रिलिव करने पर सहमति हुई। इसके अलावा ब्लॉक में अवैध ब्रांच हटाने तथा क़स्बे में सुनारों की दुकान के सामने किए अतिक्रमण को शीघ्र हटाने, तथा पीड़ित परिवर को सरकार की और से आर्थिक सहायता प्रदान करने की बात पर सहमति हुई। पुलिस ने हत्या के पांच आरोपी भवानीसिंह, शिवराज, नरेश, रविंद्र, करणसिंह पुत्र बूलेंद्रसिंह को गिरफ़्तार कर लिया।
बंद रखे प्रतिष्ठान
घटना के विरोध में क़स्बे के व्यापारियों ने सोमवार को व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे। सुबह एक बार व्यापारियों ने प्रतिष्ठान खोले मगर थोड़ी देर बाद प्रतिष्ठा बंद कर अस्पताल में चल रहे धरने पर चले गए। व्यापार मंडल अध्यक्ष गणेश गुप्ता ने बताया कि उनकी एक अपील पर सभी व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद कर एकता का परिचय दिया है।
दस लाख की आर्थिक सहायता
पीड़ित परिवार को मदद देने के लिए सरकार की और से पालनहार योजना तथा विधिक प्राधिकरण की और से पाँच लाख रुपए की आर्थिक सहायता तथा पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने 51 हज़ार रुपए देने की घोषणा की। इसके अलावा सरपंच प्रह्लाद बांगडवा ने पीड़ित के बच्चे की आजीवन पढ़ाई कि खर्चा वहन करने की बात कही। पाँच लाख रुपए के लगभग वहाँ बैठे लोगों ने दिए।
शराब ठेके की ब्रांचे होंगी बंद
पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने अपनी मांगों में ब्लॉक में शराब की ब्रांचों को बंद करने की मांग प्रशासन के सामने रखी। उन्होंने कहा कि जिस शराब की ब्रांच पर महावीर पर जानलेवा हमला हुआ वह भी बंद होनी चाहिए। एडीएम जेपी गौड़ ने पूरे ज़िले में शराब की अवैध ब्रांच को बंद करने के आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *