चित्तौड़ में चोरी की 14 बाइक बरामद: बाइक चोरी के मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार, चार बाल अपचारियों को किया डिटेन

Quiz banner
सदर थाना पुलिस ने बाइक चोरी के मामले में खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं चार नाबालिगों को डिटेन किया गया। पुलिस ने आरोपियों से 14 बाइक बरामद की है। थानाधिकारी हरेंद्र सिंह सौदा ने बताया कि क्षेत्र में कई दिनों से बाइक चोरी की शिकायत आ रही थी। सदर थाना क्षेत्र में रहने वाले विमल कुमार सिंह और तेज सिंह ने अपनी बाइक चोरी की रिपोर्ट लिखाई थी और खुद के घर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद बदमाशों के फोटो भी दिए। इसके बाद कार्यवाहक थानाधिकारी (DST टीम प्रभारी) विक्रम सिंह के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। टीम ने इसके अलावा भी कई सीसीटीवी कैमरे खंगाले। मुखबीर भी एक्टिव कर दिए गए, जिसके बाद पता चला कि बाइक चोरी के मामले में गांधीनगर निवासी यश उर्फ सानू पुत्र हरीश गिरी और उसके कुछ दोस्त शामिल थे। पुलिस की टीम ने यश को पकड़ा।

17 में से 14 बाइक बरामद

पूछताछ के दौरान यश ने फतहनगर उदयपुर निवासी गौरव पुत्र सुरेश और रेलमगरा राजसमंद निवासी अंकित पुत्र गोपाल गर्ग और अपने चार नाबालिग दोस्तों के साथ मिलकर सदर थाना क्षेत्र से 4, कोतवाली थाना क्षेत्र से 1, गंगरार से 1, उदयपुर से 2, भीलवाड़ा से 2, राजसमंद से 3, कपासन से 2 और नीमच से 2 यानी टोटल 17 बाइक चोरी करना स्वीकार किया। इनमें से पुलिस ने 14 बाइक बरामद कर ली हैं। पुलिस ने इस मामले में यश के दोनों दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया और 4 नाबालिगों को डिटेन कर लिया। कार्रवाई वाली टीम में ASI अमर सिंह, कॉन्स्टेबल हेमेंद्र, राकेश कुमार, लक्ष्मण सिंह, हेमवृत, सुंदर पाल, दीपक कुमार, राजदीप शामिल थे। ASI अमर सिंह और कॉन्स्टेबल हेमेंद्र की अहम भूमिका रही।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

स्कूल समय से ही थी नशे की लत

मुख्य आरोपी यश और एक नाबालिग सेंती के एक स्कूल में अलग-अलग क्लास में पढ़ते थे। इसी दौरान दोनों की मुलाकात हुई और दोनों गांजे का सेवन करने लगे। तंग आकर यश के घर वालों ने उसे घर से निकाल दिया। घर से निकलने के बाद यश और भी बुरी संगति में आ गया। साथ ही अलग-अलग अपराधियों के संपर्क में रहा। इस दौरान मौज शौक और नशे की लत को पूरा करने के लिए सब मिलकर बाइक चुराने का और अन्य चीजें चुराने का काम करने लगे।