अवैध देशी पिस्टल व 04 जिन्दा कारतूस (लोडेड) सहित किया गिरफ्तार

पुलिस थाना खेतड़ीनगर व जिला स्पेशल टीम की संयुक्त कार्यवाही, आरोपी नरेश कुमार को अवैध देशी पिस्टल व 04 जिन्दा कारतूस (लोडेड) सहित किया गिरफ्तार

थानाधिकारी थाना खेतडीनगर व जिला स्पेशल टीम झुन्झुनूं द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुए अवैध हथियार रखने वालों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के दौरान कार्यवाही करते हुए आरोपी नरेश कुमार को मय एक देशी पिस्टल एवं 04 जिन्दा कारतुस के गिरफ्तार किया गया।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

दिनांक 3.11.22 को श्री शशीकांत एचसी 95 जिला स्पेशल टीम ने मन थानाधिकारी को सूचना मिली कि “मानोता नदी क्षेत्र की तरफ एक व्यक्ति को हथियार लेकर घूम रहा है। उक्त सूचना की तस्दीक हेतू मन थानाधिकारी हरिकृष्णा तंवर उप निरीक्षक मय एक पिस्टल मय जाप्ता श्री महिपाल सिंह एचसी 25, श्री अमरचन्दल कानि. 244 श्री राकेश कुमार कानि. 299, मय प्राईवेट वाहन थाना से रवाना होकर कस्बा खेतडीनगर, हाट बाजार, मानोता नदी क्षेत्र, आम सड़क मानोता कलां, नट बस्ती मानोता कलां तलाश करता हुआ धर्मदड़ा की तरफ जाने वाली रोड़ के पास पहुँचा तो एक व्यक्ति सामने से पैदल आता दिखाई दिया, जिसके पास प्राईवेट वाहन रोका गया तो शख्स पुलिस जाब्ता को देखकर नदी क्षेत्र की तरफ भागने लगा, जिसको मन थानाधिकारी व जाब्ता ने करीब 200 – 250 मीटर नदी क्षेत्र में पीछाकर पकड़ा और भागने के बारे में पूछा तो सकपका गया और कोई जवाब नही दिया।

थानाधिकारी द्वारा शख्स की तलाशी ली गई तो पहनी हुई जिंस पेंट के आगे बॉयी तरफ बेल्ट में एक देशी पिस्टल दबा हुआ मिला, जिसको निकालकर चैक किया तो मैगजीन में चार जिंदा कारतूस लोड मिले। मन थानाधिकारी द्वारा शख्स से नाम पता पूछा गया तो अपना नाम नरेश कुमार पुत्र शीशराम जाति गुर्जर उम्र 26 साल निवासी वार्ड नं0 6 गोठड़ा पुलिस थाना खेतड़ीनगर जिला झुन्झुनूं होना बताया।

शख्स नरेश कुमार से अपने कब्जे में देशी पिस्टल मय लोडेड जिंदा कारतूस रखने बाबत लाईसेंस अनुज्ञा पत्र बाबत पूछा गया तो अपने पास किसी प्रकार का लाईसेंस अनुज्ञा पत्र नही होना बताया। मुल्जिम के कब्जे में मिले अवैध एक देशी पिस्टल व 4 जिन्दा कारतुसों को जरिये फर्द जब्त किया गया है व मुल्जिम को जरिये फर्द मौके पर ही गिरफतार किया गया है। वापसी पर मुल्जिम के विरूद्ध थाना पर मुकदमा नम्बर 220 / 22 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट में पंजिबद्ध किया गया है। मुलजिम से प्रकरण में अनुसंधान जारी है।