राजीव गांधी ग्रामीण व शहरी ओलम्पिक खेल – मुख्यमंत्री ने 10 जागरूकता वाहनों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

राजीव गांधी ग्रामीण एवं शहरी ओलम्पिक खेल-2023 खेल प्रतिभाओं को बेहतर अवसर उपलब्ध करा रही राज्य सरकार -मुख्यमंत्री – 10 जुलाई से शुरू होंगे राजीव गांधी ग्रामीण व शहरी ओलम्पिक खेल – मुख्यमंत्री ने 10 जागरूकता वाहनों को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना – टी-शर्ट, मेडल्स एवं सर्टिफिकेट्स का किया विमोचन

जयपुर: मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण एवं शहरी ओलम्पिक खेल-2023 से प्रदेश के युवाओं में खेलों के प्रति उत्साह पैदा होगा, जिसके भविष्य में अच्छे परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। राज्य सरकार द्वारा खेल प्रतिभाओं को बेहतर अवसर उपलब्ध करवाये जा रहे हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

श्री गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास से राजीव गांधी ग्रामीण एवं शहरी ओलम्पिक खेल-2023 के प्रति जन जागरूकता फैलाने के लिए 10 वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये वाहन कला जत्थों के साथ प्रदेश के सभी ब्लॉक एवं विधानसभा क्षेत्र में जाएंगे और खेलों को लेकर जागरूकता फैलाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर खेलों के आयोजन से सम्बन्धित मशाल को पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय वॉलीबॉल खिलाड़ी सुश्री मालती चौहान को सौंपकर रवाना किया। वहीं, श्री गहलोत ने प्रतिभागियों को दी जाने वाली टी-शर्ट, मेडल्स एवं सर्टिफिकेट्स का विमोचन भी किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि 10 जुलाई से ग्रामीण एवं शहरी ओलम्पिक खेलों का आयोजन होगा। इन खेलों में हिस्सा लेने के लिए लगभग 57 लाख खिलाड़ियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है। उन्होंने कहा कि इन खेलों में बुजुर्ग, बच्चे, महिलाएं एवं नौजवान सब एक साथ खेलते हैं, जिससे प्रदेश में भाईचारा व सद्भावना के साथ ही खेलों के प्रति सकारात्मक माहौल बन रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी समय में राजस्थान से उत्कृष्ट खिलाड़ी निकलेंगे, जो प्रदेश का नाम रोशन करेंगे।

इस अवसर पर खेल राज्यमंत्री श्री अशोक चांदना ने कहा कि इन खेलों के आयोजन से ’फिट राजस्थान-हिट राजस्थान’ की भावना साकार हो रही है। उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर जो टीमें जीतेंगी, उनके गांवों में महात्मा गांधी नरेगा योजना के माध्यम से 50-50 लाख रूपये की राशि से खेल स्टेडियम का निर्माण होगा। इसी प्रकार, जो खिलाड़ी राज्य स्तर पर चैम्पियन बनेंगे उन्हें होमगार्ड भर्ती में प्राथमिकता मिलेगी। श्री चांदना ने कहा कि खिलाड़ियों को राजकीय महाविद्यालयों में प्रवेश में प्राथमिकता मिले, ऐसी योजना बनाई जाएगी। जिला स्तर पर विजेता खिलाड़ियों को ट्रैक सूट एवं तहसील स्तर पर विजेता खिलाड़ियों को मैडल्स व सर्टिफिकेट दिये जाएंगे। वहीं, खेलों में भाग लेने वाले सभी लगभग 57 लाख खिलाड़ियों को टी-शर्ट्स उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा, शासन सचिव खेल विभाग श्री नरेश कुमार ठकराल समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।