Headlines

झुंझुनूं : सरकारी अस्पताल में भी सुरक्षित नहीं मरीज:वार्ड में मरीज के परिजन का मोबाइल और 2500 रुपए चोरी, परिजनों ने अस्पताल कर्मचारी पर लगाए चोरी के आरोप

घटना के अनुसार अस्पताल कर्मचारी द्वारा नर्सिंग रूम मे दोस्त के साथ शराब पीने की जानकारी आने के बाद भी अस्पताल प्रशासन ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।
चिड़ावा के दुर्गा देवी सरकारी अस्पताल में अब मरीज और उनके परिजनों का सामान भी सुरक्षित नहीं है। खास तौर पर रात के समय में भर्ती मरीजों और उनके परिजनों की सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है। ताजा मामला कल देर रात का है। जहां मरीज के परिजनों का सामान वार्ड से ही चोरी हो गया। स्यालू कलां निवासी प्रवीण सिंह शेखावत ने बताया कि उसकी बहन मंजू की बेटी की तबियत खराब होने पर दुर्गा देवी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
प्रवीण ने बताया कि अस्पताल में गुरुवार रात वार्ड के पास दो युवक नर्सिंग रूम में बैठ कर शराब पी रहे थे। तेज आवाज में बात कर रहे थे। प्रवीण ने जाकर देखा तो एक अस्पताल का कर्मचारी था। एक उसका दोस्त था। प्रवीण ने बताया कि शोर होने पर में देखने गया तो दोनों युवक मुझसे गाली गलौच करने लगे और प्रवीण की बहन के मोबइल नंबर मांगने लगे। जब मना किया तो दोनों युवक चले गए। रात को 11 बजे वार्ड में आए और फिर मौका देखकर मेरी बहन का पर्स चोरी कर ले गए। एक मोबाइल और 2500 रुपये थे। घटना की जानकारी चिड़ावा पुलिस थाने में देकर रिपोर्ट दे दी है। वहीं, सीएचसी इंचार्ज डॉ. नितेश जांगिड़ को भी मामले से अवगत कराया गया है।नया बस स्टैंड चौकी प्रभारी बलबीर चावला मामले की जांच कर रहे हैं।
बिना सुरक्षा के अस्पताल,कैसे हो मरीजों और उनके परिजनों की सुरक्षा
बड़ा सवाल है कि इतने बड़े अस्पताल में सुरक्षा के नाम पर नाम मात्र के ही इंतजाम हैं। अस्पताल में इक्का दुक्का गार्ड ही तैनात हैं वहीं रात्रि के समय तो मरीज और उनके परिजनों की सुरक्षा राम भरोसे ही नजर आती है। घटना के अनुसार अस्पताल कर्मचारी द्वारा नर्सिंग रूम मे दोस्त के साथ शराब पीने की जानकारी आने के बाद भी अस्पताल प्रशासन ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *