Headlines

राजस्थान बोर्ड 12वीं की तीनों संकाय का परीक्षा परिणाम जारी | JHUNJHUNU NEWS

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट जारी : कॉमर्स शीर्ष पर कायम, विज्ञान संकाय का 99.52, कला 99.19 और वाणिज्य का 99.73 प्रतिशत रहा रिजल्ट, राजस्थान के 9 लाख विद्यार्थियों का इंतजार खत्म

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

राजस्थान बोर्ड 12वीं का रिजल्ट जारी हो गया है. बोर्ड ने इस बार सभी संकाय के नतीजे एक साथ जारी किए हैं। इस बार भी कॉमर्स संकाय का परिणाम सबसे बेहतर रहा है। जबकि अन्य संकाय के मुकाबले साइंस में सबसे कम छात्र पास हुए हैं। जो छात्र रिजल्ट से खुश नहीं हैं, उन्हें ऑफलाइन परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान ( आरबीएसई ) अजमेर ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट rajresults.nic.in और rajeduboard.rajasthan.gov.in पर आरबीएसई 12वीं रिजल्ट जारी कर दिया है. शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने अजमेर स्थित बोर्ड ऑफिस में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नतीजों की घोषणा की. साइंस में 99.48 फीसदी, आर्ट्स में 99.19 फीसदी और कॉमर्स में 99.73 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए।

कला वर्ग का रहा 99.19 प्रतिशत परिणाम
कला वर्ग में 592218 छात्रों का पंजीकरण हुआ था, 592051 छात्र प्रविष्ठ हुए थे.297534 छात्र पास हुए, जबकि 289705 छात्राएं पास हुई. कुल 587239 छात्र पास हुए. कला वर्ग का 99.19 प्रतिशत परिणाम रहा

विज्ञान वर्ग का रहा 99.52 प्रतिशत परिणाम
बात करें विज्ञान वर्ग की, तो 236030 छात्रों का पंजीकरण हुआ था. 235954 छात्र प्रविष्ठ हुए थे. 154784 छात्र पास हुए. 80048 छात्राएं पास हुई. कुल 234827 छात्र पास हुए. विज्ञान वर्ग का 99.52 प्रतिशत परिणाम रहा.

वाणिज्य वर्ग का रहा 99.73 प्रतिशत परिणाम
अब बात हो रही हैं वाणिज्य वर्ग की, तो 31993 छात्रों का पंजीकरण हुआ था. 31989 छात्र प्रविष्ठ हुए थे. 20369 छात्र पास हुए. 11534 छात्राएं पास हुई. कुल 31903 छात्र पास हुए है. वाणिज्य वर्ग का 99.73 प्रतिशत परिणाम रहा.

तीनों संकाय का एक साथ जारी हुआ परिणाम
इतिहास में पहली बार आया तीनों संकाय का एक साथ परिणाम जारी हुआ है. कोरोना के चलते इस बार बोर्ड की परीक्षा नहीं हो पाई थी. इसी कारण से राज्य सरकार ने सभी छात्रों को प्रमोट करने का निर्णय लिया था. इस वर्ष कोरोना के चलते सरकार ने बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दी थीं और विद्यार्थियों को प्रमोट करने का ऐलान किया था. इस साल 12वीं कक्षा में करीब 8.82 लाख स्टूडेंट्स पंजीकृत हैं.

अन्य शिक्षा बोर्ड की तरह राजस्थान बोर्ड ने भी कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थी. कक्षा 12वीं के छात्रों का मूल्यांकन उनके कक्षा 10वीं और 11वीं के अंकों के वेटेज के आधार पर किया गया है

परीक्षा परिणाम से अंसतुष्ट विद्यार्थियों को परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *