ओडिशा विजिलेंस के इतिहास में अबतक की सबसे बड़ी छापेमारी, इंजीनियर का इतना सोना, कैश और संपत्ति जब्त

ओडिशा विजिलेंस विभाग ने अब तक सबसे बड़ी अधिक नकदी को जब्त किया है.

जनजातिय बहुल मलकानगिरी जिले में तैनात एक सुप्रीटेंडिंग इंजीनियर आशीष कुमार दाश से विजिलेंस टीम ने करोड़ों रुपये कैश और सोने के जेवरात जब्त किए हैं. विजिलेंस को आशीष की अकूत दौलत का पता लगाने में लगभग चार दिन लग गए. बताया गया है कि यह पैसा नक्सल प्रभावित इलाकों में विकास कार्यों के लिए जारी हुआ था जिसे भ्रष्ट बाबुओं ने लूट लिया.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

25 मार्च को विजिलेंस विभाग को खबर मिली थी कि मलकानगिरी जिले के रुरल वर्क्स डिपार्टमेंट के सुप्रीटेंडिंग इंजीनियर आशीष कुमार दाश लाखों की नकदी लेकर कहीं जा रहे हैं. इसके बाद विजिलेंस टीम ने जाल बिछाया और आशीष कुमार दाश को रास्ते में ही रोक लिया. तलाशी लेने पर विजिलेंस टीम ने उनके पास से 10 लाख 23 हजार 970 रुपये जब्त किए. 

ओडिशा विजिलें ने आशीष कुमार दास नाम के एक सीनियर इंजीनियर के ठिकानों पर छापे मारकर नकदी और जेवरात जब्त किए हैं. मल्कानगिरी, शांतिवन, बेलगाचिया, त्रिशुलिया और कटट में छापेमारी के बाद ओडिशा विजिलेंस ने अपने इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी की है. विजिलेंस ने सीनियर इंजीनियर के ठिकानों से 1.36 करोड़ रुपये कैश और 1.2 किलो सोना जब्त किया है.