Jhunjhunu अघोषित विद्युत कटौती को लेकर अधीक्षण अभियंता कार्यालय झुंझुनू पर धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा

जिला मुख्यालय पर सबसे बड़ा प्रदर्शन हुआ अधिक्षण अभियंता कार्यालय पर….

बिजली की कटौती से आमजन जीवन त्रस्त…

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

पहली बार गाया हरजस ….

हरजस किसी के निधन पर गाया जाने वाला गीत….

विरोध प्रदर्शन में हरजस के माध्यम से सरकार की विफलताओं के रूप में नाराजगी स्वरूप जताया गया विरोध

झुंझुनू : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर प्रदेश भर में हो रहा अघोषित विद्युत कटौती को लेकर आमजन की आवाज के रूप में विद्युत विभाग के कार्यों पर धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन देने को लेकर भाजपा नेता बबलू चौधरी व भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष सतीश गुजरात के नेतृत्व में अधीक्षण अभियंता कार्यालय झुंझुनू पर धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा गया गया। ज्ञापन में कांग्रेस घोषणा पत्र के अनुसार बिजली दी जाने की मांग ,ग्रामीण क्षेत्र में कटौती का समय तय कर आमजन को पूर्व सूचना दी जावे तथा इस गंभीर समय में जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम बनाया जाने की मांग की गई । जिस पर अधीक्षण अभियंता राजेन्द्र शेखावत ने ग्रामीण क्षेत्र की कटौती को समय बंद कर जनसाधारण को पूर्व सूचित कर देने तथा कंट्रोल रूम स्थापित कर फोन नंबर सार्वजनिक कर देने पर तत्काल सहमति जताई । वहीं प्रदेश स्तर की मांग मुख्यमंत्री को भेज देंगे । धरने पर सुबह 10 बजे से ही क्षेत्र से लोग पहुँचने लग गए थे। धरने को संबोधित करते हुए भाजपा नेता बबलू चौधरी ने कहा राज्य सरकार हर मोर्चे पर विफल है। जिले की जनता समय पर जवाब देगी ।

झुंझुनू जिला मुख्यालय पर कांग्रेस सरकार के प्रतिनिधि भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम करने के अलावा कुछ नही कर रही है। प्रत्येक विभाग की उन्होंने भरस्टाचार राशि तय कर रखी है उनको आमजन से कोई मतलब नहीं है ।अगर व्यवस्था सुधरेगी नहीं तो कांग्रेस के नेताओ को झुंझुनू सीमा के रेलवे स्टेशन से आगे नहीं आने दिया जाएगा।

वहीं भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिला अध्य्क्ष सतीश गजराज ने कहा कि बिजली की कटौती से ग्रामीण क्षेत्रों में जनजीवन बेहाल है ।हमारी मांगॉ को तत्काल प्रभाव से नहीं माना तो आंदोलन उग्र किया जाएगा । हमारी मांगे आज सांकेतिक रूप में धरने स्वरूप है। गम्भीरता से नही लोगे तो आने वाले दिनों में जनता रोड़ पर आकर विरोध जताएगी। राज्य सरकार के बिजली कटौती पर आज हरजस भी गया गया। आज के धरने प्रदर्शन में सरकार की नीतियों को लेकर आलोचना की ।वहीं मृत्यु होने पर गाए जाने वाला गीत हरजस भी गया गया। इस हरजस गीत के माध्यम से सरकार की विफलता के रूप में लोकतांत्रिक प्रदर्शन के रूप में बताया गया ।

समस्या का समाधान नही होने पर गांव में सरकार के मंत्रियों नेताओं का घेराव करने की चेतावनी भी वक्ताओं ने दी। धरने में जिला परिषद सदस्य सोनू सोहनी, झांझा सरपंच महेश यादव,सावरोद सरपंच प्रेम गजराज,भाजपा मंडल अध्यक्ष बलजी सुल्ताना, चनाना सरपंच चरण सिंह, गोवला सरपंच महिपाल ,किशोरपुरा सरपंच दीपेश मीणा, पंचायत सदस्य सुनील बिरख, डॉक्टर सुनील भड़ोन्दा पंचायत समिति सदस्य , पार्षद बुद्धराम सैनी, सुधीर चाहर, पूर्व उप सभापति राजू मारिगसर सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए जिले में बिजली संकट पर जनता की पीड़ा को व्यक्त किया ।

अधीक्षण अभियंता ने धरना स्थल पर आ कर ज्ञापन लिया और जिला स्तर की समस्याओं का समाधान करने के लिए आज होने वाली सीएम के वीसी बैठक के जरिए बात रखने हेतु आश्वस्त किया। इस दौरान दीपक नेहरा ,देव थालोर ,धर्मवीर बुडानिया,धर्मेंद्र कोच,सुनील चाहर,आंसू सिंह सुल्ताना ,अशोक बसावा सहित जिले भर के जनप्रतिनिधि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।धरने का संचालन के पूर्व सरपंच का प्रदीप झाझड़िया ने किया। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस जाब्ता भी मौजूद रहा