फर्जी भ्रूण लिंग परीक्षण कर अवैध गर्भपात करने वाले गिरोह का भण्डाफोड़

राज्य पीसीपीएनडीटी थाने की बड़ी डिकॉय कार्यवाही

फर्जी भ्रूण लिंग परीक्षण कर अवैध गर्भपात करने वाले गिरोह का भण्डाफोड़

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

भ्रूण लिंग परीक्षण के नाम पर धोखाधड़ी के आरोप में एक फर्जी चिकित्सक एवं दो दलाल गिरफ्तार

सीकर : राज्य पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ ने एक बड़ी डिकॉय कार्रवाई कर भ्रूण लिंग जांच के नाम पर धोखाधड़ी करते हुए तीन आरोपियो को गिरफ्तार किया है।

पूर्व छात्रसंघ राकेश झाझड़िया की हत्या का मामला: गब्बर गैंग के हिस्ट्रीशीटर को किया गिरफ्तार

प्रकोष्ठ ने सुभाष चंद्र पुत्र श्री नवलाराम निवासी चंद्रपुर सांवली सीकर, रामनिवास पुत्र श्री रामेश्वर लाल, निवासी मुंडवाड़ा सीकर व रामेश्वर लाल पुत्र श्री नारायण राम ग्राम सांवली सीकर को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह गर्भ में बच्चों के दिल की धड़कन जांचने के काम में आने वाली फीटल डॉपलर मशीन से फर्जी अवैध भ्रूण लिंग जांच कर रहा था। कार्यवाही में भ्रूण लिंग जांच के नाम पर ली गई राशि के हुबहू नोट भी बरामद भी किए हैं। उल्लेखनीय है कि आरोपी राम निवास नागौर में एक निजी राजीव पैथ लैब का संचालक है, जो कि फर्जी चिकित्सक बन फिटल डॉपलर मशीन से फर्जी जांच की।

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्रीमती शुभ्रा सिंह ने इस डिकॉय कार्यवाही के लिए पीबीआई टीम को प्रेरणा स्वरूप बधाई दी है। साथ ही उन्होंने राज्य सरकार की मंशा अनुरूप बेटियों को बचाने के लिए लागातार डिकॉय कर भ्रूण जांच लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कम लिंगानुपात वाले जिलों/ ब्लॉक में अपनी नियमत विशेष निगरानी बनाने के भी निर्देश दिए हैं।

अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. जितेंद्र कुमार सोनी ने बताया कि मुखबिर के माध्यम से सीकर शहर व उसके आसपास के इलाकों में एक अज्ञात गिरोह द्वारा गर्भवती महिलाओं की भ्रूण लिंग जांच किए जाने की सूचना प्राप्त हो रही थी। उन्होंने बताया कि सूचना की पुष्टि के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीसीपीएनडीटी श्री सतवीर सिंह के नेतृत्व में एक डिकॉय दल का गठन किया गया।

डॉ. सोनी ने बताया कि एक दलाल सुभाष चंद व रामेश्वर लाल ने डिकॉय गर्भवती महिला एवं सहयोगी से बातचीत कर ₹,70000 में भ्रूण लिंग जांच करवाने की बात कही। इसके बाद दलाल सुभाष चंद ने डिकॉय गर्भवती महिला व सहयोगी को एसके कॉलेज के पास बुलाया। वहां से दलाल रामेश्वर लाल व रामनिवास अपनी गाड़ी में डिकॉय गर्भवती महिला व सहयोगी को खूड लोसल रोड पर लेकर गये। चलती गाड़ी में फर्जी चिकित्सक बन रामनिवास ने फिटल डॉपलर मशीन से फर्जी सोनोग्राफी कर डिकॉय गर्भवती महिला को मनगढ़ंत भ्रूण लिंग की जानकारी दी। दलालो से 70000 के हुबहु नोटनोट बरामद कर लिए हैं।

दलाल सुभाष चंद्र से ₹17000 रामेश्वर लाल 25000 व और रामनिवास से 28000 रुपए बरामद किए गए है। राम निवास ने यह भी कहा कि आप गर्भपात करवाना चाहते हो तो मेरे हॉस्पिटल में करवा दूंगा जिसकी अलग से फीस लगेगी जो ₹10000 लूंगा ।

इस डिकॉय कार्यवाही में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ निर्मल सिंह,पुलिस निरीक्षक सतपाल यादव,हेड कॉन्स्टेबल श्री चंद्रभान, श्री कैलाश चंद, कॉन्स्टेबल मुकेश, कांस्टेबल सानू,पीसीपीएनडीटी समन्वयक,सीकर श्री नंदलाल पूनिया , झुंझुनू से संजीव महिला, दिनेश कुमार, सुरेंद्र शामिल थे।