Leopard Terror : तेंदुए के हमले से दहशत में ग्रामीण, लोगों में देखा जा रहा गुस्सा:रेस्क्यू करने में नहीं मिली अभी तक सफलता

नवलगढ़ के गोठड़ा क्षेत्र में तेंदुए की हलचल दो को किया घायल वन विभाग की रेस्क्यू टीम जयपुर से पहुंची नवलगढ़ तेंदुए को रेस्क्यू करने में नहीं मिली अभी तक सफलता टीम लग रही है प्रयास में

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

नवलगढ़: आबादी से सटे जंगलों में लगातार लेपर्ड का मूवमेंट बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को भी झुंझुनूं में एक लेपर्ड निर्माणाधीन सीमेंट प्लांट में घुस गया और यहां काम कर रहे मजदूरों पर हमला कर दिया। इस हमले में एक मजदूर घायल भी हो गया। इधर, इस पूरे घटनाक्रम का वहां मौजूद कर्मचारियों ने वीडियो भी बनाया।

करीब 10 मिनट तक तेंदुए के मूवमेंट से भगदड़ मच गई। हालांकि एक बार लेपर्ड वहां से चला गया लेकिन दोपहर 3 घंटे बाद दोबारा यह सीमेंट प्लांट और आस-पास खेतों में देखा गया। मामला जिले के नवलगढ़ के गोठड़ा के सीमेंट प्लांट का है। सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू के लिए तलाशी शुरू की। लेकिन, तब तक ये तेंदुआ पहाड़ियों में छिप गया था।

7 घंटे की मेहनत के बाद नहीं पकड़़ में आया तेंदूआ, कई बार करीब से निकल गया तेंदूआ

झाझड़ बेरी मार्ग पर स्थित खेत में तेंदुए द्वारा रात्री ११ बजे गाय के झड़प मारने की सूचना और इसी क्रम में लगभग एक बजे गोगामेड़ी बड़े मोहल्ले के पास शहर में देखे जाने की सूचना….

झाझड वाली सूचना देने वाले केडी सैनी और गोगामेड़ी वाली सूचना देने वाले जावेद बहलीम।

दोनो जानकारी सिर्फ सूचना के क्रम में जनता की सावधानी हेतु… डरे नहीं, भय भीत ना हो, सिर्फ सावधानी रखे । सुबह
सत्यता के लिए वन विभाग की टीम खोज के आधार पर लोकेशन पुख्ता करेगी। क्यों कि देवीपुरा बनी क्षैत्र में भी तेंदुए के होने की संभावित सूचना थी । झाझड और देवीपुरा बनी दोनो स्थानों में दूरी अधिक हैं। या तो दो तेंदुए अलग अलग हैं। या फिर एक ही है । जो किसी एक स्थान पर हैं। यदपी जिधर भी तेंदुए को आबादी क्षेत्रों में देखा जाएगा तो उम्मीद हैं सुबह समय पर रेस्क्यू कर अरावली पहाड़ी क्षेत्रों में वन विभाग टीम द्वारा छोड़ा जाएगा।