Rajasthan Social Pension Scheme 2024 राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना का स्टेटस यहां से चेक करें, संपूर्ण जानकारी

Rajasthan Social Pension Yojana 2024 : अगर आप भी राजस्थान के निवासी है और हर महीने 1 हजार रुपए से ₹500 तक की है पेंशन राशि दी जा रही है। अगर आप भी राजस्थान पेंशन 2024 अपने वालों की पात्रता रखते हैं तो आप सभी के खाते में भी राजस्थान पेंशन के₹1000 जमा होंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

राजस्थान पेंशन योजना 2024

पेंशन योजना के अंतर्गत राज्य के 58 वर्ष से अधिक पुरुष वृद्धजनों को 750 से लेकर 1000 रूपये की मासिक पेंशन प्रदान की जाएगी और 55 वर्ष से अधिक आयु की वृद्ध महिलाओ को 750 रुपए से लेकर 1000 रुपये तक की मासिक पेंशन आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी ।
राजस्थान राज्य के सभी वृद्धजन अपना जीवन यापन आसानी से कर सकेंगे । यह योजना 2013 में शुरू की गई थी लेकिन यह 2023 में एक अधिनियम बन गई और अब कानूनी गारंटी के साथ आती है। भाजपा सरकार ने अपने पहले बजट में आगामी वर्ष से पेंशन राशि बढ़ाकर 1150 रुपये कर दी है।

Rajasthan Samajik Suraksha Pension Yojana 2024 पात्रता की जांच कैसे करें

•सर्वप्रथम आवेदक को योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। •अधिकारिक वेबसाइट पर जाने आपको eligibility criteria के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

•विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।

•इसके बाद आपके सामने Pensioner eligibility through criteria का विकल्प आ जायेगा उस पर क्लिक कर दे। •इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म आ जायेगा इस फॉर्म मर पूछी गयी सभी जानकारी जैसे जाति,आयु आदि भर दें।

•फिर चेक के बटन पर क्लिक कर दे।इसके बाद आप पात्रता की जांच कर सकते है।

Rajasthan Social Pension Yojana 2024 महत्वपूर्ण दस्तावेज
अगर आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो ऐसे में आपके पास निम्नलिखित महत्वपूर्ण दस्तावेज जरूर होने चाहिए ।

•पैन कार्ड
•आधार कार्ड
•आय प्रमाण पत्र
•निवास प्रमाण पत्र
•बैंक डायरी
•जाति प्रमाण पत्र
•उपयोगी मोबाइल नंबर
•पासपोर्ट साइज 3 फोटो

सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना में ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया


•सर्वप्रथम आपको नजदीकी सब डिविजनल ऑफिस या फिर ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर के पास जाना होगा।
•अब आप वहां से सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
•आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी ध्यानपूर्वक दर्ज करनी होगी।
•इसके पश्चात आपको सभी दस्तावेजों को आवेदन पत्र से अटैच करना होगा।
•अब आपको यह आवेदन पत्र सब डिविजनल ऑफिस या फिर ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर के पास जमा करना होगा।
•सब डिविजनल ऑफीसर/ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर को यह आवेदन फॉर्म सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों के साथ तहसीलदार के पास भेजना होगा।
•इसके बाद फॉर्म का सत्यापन किया जाएगा और सत्यापन की प्रक्रिया सफलतापूर्वक हो जाने के बाद लाभार्थी को पेंशन प्रदान की जाएगी।

Rajasthan Social Pension Scheme 2024 का वार्षिक सत्यापन अनिवार्य


राजस्थान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना 2024 का वार्षिक सत्यापन करवाना अनिवार्य होता है। यदि लाभार्थी प्रतिवर्ष वार्षिक सत्यापन नहीं करवाता है, तो उसकी पेंशन बंद कर दी जाती है। लाभार्थी व्यक्ति अपने नजदीकी ईमित्र केंद्र पर जाकर वार्षिक सत्यापन करवा सकते हैं। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं के लाभार्थियों का वार्षिक भौतिक सत्यापन का कार्य 1 नवंबर से कैलेंडर वर्ष 2024 के लिए शुरू हो गया है। सामाजिक सुरक्षा पेंशनर्स 31 मई 2024 तक निर्धारित प्रक्रिया की पालना करते हुए भौतिक सत्यापन करवा सकते हैं

Rajasthan Samajik Suraksha Pension Yojana पेंशनर स्टेटस कैसे देखे ?


•जो इच्छुक लाभार्थी स्टेटस देखना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे।

•सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
•इस होम पेज पर आपको Report का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
•इस पेज पर आपको Pensioner Online Status के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।

•इसके बाद आपको एप्लीकेशन नंबर भरना होगा। और फिर कैप्चा कोड डालकर Show Status पर क्लिक करना होगा। फिर आपके सामने पेंशनर स्टेटस आ जायेगा।

पेंशनर्स को करवाना होगा भौतिक सत्यापन


सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनान्तर्गत वंचित पेंशनर 31 मई तक करवा सकेंगे वार्षिक भौतिक सत्यापन

चूरू, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनान्तर्गत पेंशन प्राप्त कर रहे वृद्धजन, विधवा एवं विशेष योग्यजन व्यक्तियों को अपनी पेंशन सुचारू रखने के लिए वर्ष 2024 का भौतिक सत्यापन करवाने के लिए कहा गया है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक अरविंद ओला ने बताया कि वार्षिक भौतिक सत्यापन की अंतिम तिथि 31 मई 2024 निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि जिले में ग्रामीण क्षेत्र में 22603 पेंशनर तथा शहरी क्षेत्र में 6889 पेंशनर सहित कुल 29492 पेंशनर वार्षिक भौतक सत्यापन से वंचित हैं। ग्रामीण क्षेत्र में बीदासर में 3026, चूरू में 2955, राजगढ़ में 4351, रतनगढ़ में 2784, सरदारशहर में 3861, सुजानगढ़ में 2152 व तारानगर में 3474 तथा शहरी क्षेत्र में बीदासर में 174, छापर में 35, चूरू में 1802, राजलदेसर में 156, राजगढ़ में 1114, रतनगढ़ में 1071, रतननगर में 250, सरदारशहर में 1091, सुजानगढ़ में 518 व तारानगर में 678 पेंशनर वार्षिक भौतिक सत्यापन से वंचित हैं।

उन्होंने बताया कि योजनान्तर्गत लाभ प्राप्त करने वाले पेंशनरों के द्वारा भौतिक सत्यापन नहीं करवाया जाने पर उनकी पेंशन का भुगतान नहीं हो पाएगा। भौतिक सत्यापन हेतु पेंशनरों के आधार नंबर से मोबाईल नंबर जुड़ा होना अनिवार्य है। यदि किसी पेंशनर के आधार के साथ मोबाईल नंबर नहीं जुड़ा है, तो जिला आधार केन्द्र के माध्यम से आधार नंबर के साथ मोबाईल नंबर जुड़वाया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि भौतिक सत्यापन से वंचित पेंशनर ई-मित्र कियोस्क, राजीव गांधी सेवा केन्द्र एवं ई-मित्र प्लस इत्यादि केन्द्रों पर अंगुली की छाप से बायोमैट्रिक, बायोमैट्रिक/अंगुली की छाप से यदि पेंशनर का भौतिक सत्यापन नहीं होने पर वे स्वयं घर बैठे ही वार्षिक भौतिक सत्यापन हेतु विकसित मोबाईल एन्ड्रॉइड एप्प राजस्थान सोशल पेंशन और आधार फेस आरडी डाउनलोड कर फेस रिकाग्निशन के आधार पर सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनान्तर्गत वार्षिक भौतिक सत्यापन करवा सकते हैं। यह सुविधा पूर्णतया निःशुल्क है एवं एक मोबाईल से अनेक पेंशनरों का वार्षिक भौतिक सत्यापन संभव है। इसमें पेंशनर के आधार से जुड़े मोबाईल नंबर पर ओटीपी भेजकर सत्यापन किया जाता है।

उन्होंने बताया के इन माध्यमों से भी पेंशनर का भौतिक सत्यापन नहीं होने पर वे क्षेत्रीय भौतिक सत्यापन अधिकारी ( ग्रामीण क्षेत्र के पेंशनरों के लिए विकास अधिकारी तथा शहरी क्षेत्र के पेंशनरों के लिए उपखण्ड अधिकारी) के समक्ष व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर आधार नम्बर से लिंक मोबाईल पर ओटीपी प्राप्त कर अपना भौतिक सत्यापन करवा सकते हैं। व्यक्तिगत उपस्थिति के बिना कोई भी पेंशनर घर बैठे पेंशन का सत्यापन नहीं करवा सकेगें।