पानी से भरे गड्ढ़े में गिरने से छात्र की मौत: मैट्रिक्स कोचिंग का था छात्र, झुंझुनूं जिले के हमीरीकलां का रहने वाला था

बरसाती पानी में कोचिंग छात्र की डूबने से मौत

सीकर । सिविल डिफेंस टीम ने किया था रेस्क्यू, छात्र को गंभीर हालत में अस्पताल कराया गया था भर्ती, अस्पताल में छात्र को मृत घोषित किया, नवलगढ़ पुलिया के पास की घटना, कलेक्टर अमित यादव, SP करण शर्मा पहुंचे अस्पताल, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और सीकर सांसद सुमेधाननद सरस्वती पहुंचे अस्पताल काफी लोग मौजूद!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Join Join Now

नवलगढ़ रोड पर सीवरेज के लिए खोदे गए 15 फीट गहरे गड्ढे में डूबने से शनिवार शाम जिले के हमीरी कलां के कोचिंग स्टूडेंट की मौत हो गई। कोचिंग से मकान पर लौटते वक्त यह दर्दनाक हादसा हुआ। जिले के हमीरीकलां का युवराज मीणा पुत्र महिपाल मीणा सीकर से 12वीं के साथ नीट की कोचिंग कर रहा था।

पुलिस व प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रात आठ बजे तेज बारिश के बाद नवलगढ़ रोड पर छह फीट से ज्यादा पानी भर गया था। इसी दौरान युवराज आनंदनगर स्थित पीजी में जा रहा था। उसे गड्ढ़े का पता नहीं चला, जिससे वह उसमें गिर गया। यह गड्ढ़ा सीकर के महिला थाने के सामने खोदा हुआ है। राहगीरों ने कंट्रोल रूम को सूचना दी तो सिविल डिफेंस की टीम पहुंची।

10 मिनट में बच्चे को निकालकर सीकर के अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवराज के पिता सीआईएसएफ में हैं और माता आंची देवी गृहिणी हैं। शव मोर्चरी रखवाया है। रविवार को पोस्टमार्टम करवाया जाएगा

छात्र की मौत पर जताया विरोध, विभिन्न संगठनों ने किया अनिश्चितकालीन बाजार बंद का आह्वान

भाजपा युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष स्वदेश शर्मा ने दोषी अधिकारियों को निलंबित, हत्या का मुकदमा और पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन बंद का आह्वान किया है। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष हरिराम रणवां ने भाजपा की ओर से बंद का एलान किया है। भाजपा पार्षद दल ने भी बंद का समर्थन किया। घटना के बाद अस्पताल में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसके अस्पताल में भारी पुलिस जाप्ता तैनात कर दिया गया

सीआईएसएफ में कार्यरत हैं युवराज के पिता, घटना की सूचना घर पर व मां को नहीं दी

झुंझुनू | सीकर में हुए हादसे में झुंझुनूं के हमीरी कलां निवासी छात्र युवराज मीणा की मौत हो गई। तीन बहन भाइयों में युवराज सबसे छोटा था। वह तीनों बहन भाइयों के साथ सीकर में रहकर पढ़ाई कर रहा था। बड़ी बहन लक्की रीट की तैयारी व छोटी बहन अनू कंपीटिशन एग्जाम की तैयारी कर रही है।

सीआईएसएफ में कार्यरत महिपाल मीणा के होनहार लाडले युवराज से परिवार को काफी उम्मीदें थी। इस हादसे ने इस परिवार की उम्मीदों को डूबो दिया। हालांकि इस हादसे की खबर देर रात तक उसके घर पर नहीं दी गई। केवल उसके पिता को फोन कर इस बारे में बताया गया। उसकी मां आची देवी, दादा गोमाराम व दादी माना देवी को नहीं बताया।